BJP फंस गई जुमलों में? मूर्ख बनाया जनता को, सच सबके सामने है!

भाजपा झूँठ की फैक्ट्री?

2014 के चुनाव में BJP बहुत सारी वादों की लिस्ट तैयार कर के रखी थी, जो हर चुनावी भाषणों में नए नए तरीके से जनता का विस्वास जितना चाहती थी, और इसमें कामयाबी भी मिली,

BJP 2014 में बम्पर वोटों से जीत हांसिल की।

सत्ता में आते ही सारे नेता रंग बदलते दिखाई देने साफे, चाहे वो अमित शाह हो या रविशंकर प्रसाद, अरुण जेटली हो या मोदी।।

सब के सब ऐस रंग बदलते गए कि मानो गिरगिट को भी मात दे दिए।

उन सभी चुनावी भाषणों में मोदी जी का खुद का एक वादा था “किसानों की ऋण माफी” जो कि मोदी जी ने खुद कहा था कि BJP की सरकार बनते ही पहले ही मीटिंग में सबसे पहला काम किसानों की ऋण माफी का होगा ये मेरा वादा था।

BJP सत्ता में आई और किसानों को भूल गई,
जिसपर सवाल पूँछा गया तो पहले अरुण जेटली जी ने कहा किसानों की कर्फ़ माफी हमारी पालिसी में नही है।

फिर अमित शाह से ये सवाल पूँछा गया तो उन्होंने किसानों की कर्फ़ माफी पर सीधा कह दिया कि हमने ऐसा कभी कुछ कहा ही नही की किसानों का कर्फ़ माफ् होगा।।
अमित शाह ने कहा कि हम उद्दोगपतियों का कर्फ़ माफ् करेंगे, किसानों का नहीं।

इस वीडियो में आप को दोनों भाषण देखेंगे, जिसमे मोदी जी का किसान कर्ज माफी का वादा है, और अमित शाह का रंग बदलना।।

देखें वीडियो…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *